World Environment Day Message, Quotes 2021 : ‘विश्व पर्यावरण दिवस’ का इतिहास और प्रकृति की उपयोगिता और इस वर्ष की थीम, आज भेजे ये जागरूकता संदेश

World Environment Day Message, Quotes 2021: प्रकृति हमारे कण-कण में समाहित है। हमारे चारों और प्रकृति के चलते ही हम जीवित है।

World Environment Day Message, Quotes 2021 : 'विश्व पर्यावरण दिवस' का इतिहास और प्रकृति की उपयोगिता और इस वर्ष की थीम, आज भेजे ये जागरूकता संदेश
World Environment Day Message, Quotes 2021 : 'विश्व पर्यावरण दिवस' का इतिहास और प्रकृति की उपयोगिता और इस वर्ष की थीम, आज भेजे ये जागरूकता संदेश

(श्रद्धा उपाध्याय), World Environment Day Message, Quotes 2021: प्रकृति हमारे कण-कण में समाहित है। हमारे चारों और प्रकृति के चलते ही हम जीवित है। क्यूंकि प्रकृति में उपस्थित पेड़ पौधों से में प्राणदायक वायु ऑक्सीजन प्राप्त होती है। इसी के चलते हमे पर्यावरण के महत्व को समझना चाहिए। वही कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी के चलते अनेको जान चली गई। ये हमारे द्वारा किया गया प्रकृति के अपमान का ही दुष्परिणाम है। आज पेड़ों और काटकर लोग ऊँची इमारते और कॉलोनियों का निर्माण कर रहे है। जिसके चलते हम धीरे-धीरे प्रकृति से दूर होते चले जा रहे है। वही प्रकृति पर ध्यान नहीं देने की वजह से ही आज पॉल्यूशन लेविल बढ़ता ही जा रहा है। जिसके चलते हम गंभीर बीमारियों का शिकार हो रहे है। इसी के चलते हर वर्ष लोगो में प्रकृति के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए 5 जून को ‘विश्वपर्यावरण दिवस’ मनाया जाता है। साथ ही जगह-जगह आयोजन करके वृक्षारोपण आदि करके लोगो को पर्यावरण की उपयोगिता आदि को बताया जाता है।

इस वर्ष की थीम
हर साल पर्यावरण दिवस मनाने के साथ ही इसको एक अलग और नई थीम के साथ मनाया जाता है। ताकि लोगो को इसके अलग-अलग पहलुओं को दर्शाया जा सके। वही इस साल पर्यावरण की थीम ‘पारिस्थितिकी तंत्र की बहाली (Ecosystem Restoration)’ है। पारिस्थितिकी तंत्र की बहाली हम अलग-अलग तरह से कर सकते है। जैसे-पेड़ न काटकर जंगलो को बचाव करे, पेड़-पौधे लगाए, बारिश के पानी को एकत्रित करके आदि तरीको से।

‘विश्व पर्यावरण दिवस’ का इतिहास
सर्वप्रथम सन् 1972 में संयुक्त राष्ट्र संघ ने स्टॉकहोम (स्वीडन) में विश्व पर्यावरण दिवस की नीव रखी। इस आयोजन में पूरे विश्व के करीब 119 देशों ने भाग लिया। यह विश्व भर के देशों का पहला पर्यावरण सम्मेलन था। देश की प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी ने इस सम्मेलन में हिस्सा लेकर ‘पर्यावरण की बिगड़ती स्थिति एवं भविष्य में इसके प्रभाव’ के विषय पर चिंता जताई थी। तभी से प्रति वर्ष 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जा रहा है। इसके अलावा 19 नवंबर 1986 से पर्यावरण संरक्षण अधिनियम लागू हुआ था।

आज भेजे ये खास संदेश
“धरती का आवरण बचाएं, आओ पर्यावरण बचाएं.
हरे-भरे पौधों को लगाकर, पृथ्वी को दुल्हन सा सजाएं”
Happy World Environment Day 2021

“प्रकृति की रक्षा करो
और खुद को स्वस्थ रखो”
Happy World Environment Day 2021

“अच्छे जीवन का एक आधार
प्रकृति के सम्मान से बेडा पार”
Happy World Environment Day 2021

“प्रकृति का मत करो शोषण
इससे मिलता है हमे पोषण”
Happy World Environment Day 2021

“सब मिलकर करो वृक्षारोपण
इससे होगा पृथ्वी का संरक्षण”
Happy World Environment Day 2021

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here