WhatsApp बनाने वाले बंदे ने Signal ऐप बनाकर वाँट्सऐप को दी टक्कर | Brian Acton | Moxie Marlinspike

इन दिनों पुरी दुनिया में Signal Messaging App की जोर शोर से चर्चा हो रही है. इसके पीछे वाट्सऐप की प्राइवेसी पॉलिसी में बदलाव भी बड़ी वजह है. जो कि पूरी दुनिया में 8 फरवरी से लागू होने वाली है.

Whats App बनाने वाले बंदे ने Signal ऐप बनाकर वाँट्सऐप को दी टक्कर | Brian Acton | Moxie Marlinspike
Whats App बनाने वाले बंदे ने Signal ऐप बनाकर वाँट्सऐप को दी टक्कर | Brian Acton | Moxie Marlinspike
  • WhatsApp की प्राइवेसी पॉलिसी को जो यूजर स्वीकार नहीं करेंगे उनका WhatsApp अकाउंट अपने आप बंद हो जाएगा.
  • WhatsApp को ब्रायन ऐक्टन और जेन कुम ने मिल कर तैयार किया था.
  • Brian Acton ने वाट्सऐप को छोड़ने के बाद Signal Messaging App में 2017 में करीब 50 मिलियन डॉलर का इन्वेस्ट किया था.

Signal Messaging App: इन दिनों पुरी दुनिया में Signal Messaging App की जोर शोर से चर्चा हो रही है. इसके पीछे वाट्सऐप की प्राइवेसी पॉलिसी में बदलाव भी बड़ी वजह है. जो कि पूरी दुनिया में 8 फरवरी से लागू होने वाली है. दरअसल वाट्सऐप की प्राइवेसी पॉलिसी को जो यूजर स्वीकार नहीं करेंगे उनका वाट्सऐप अकाउंट अपने आप बंद हो जाएगा. वहीं इस प्राइवेसी पॉलिसी ने यूजर्स को भी चिंता में डाल दिया है. क्योंकि वाट्सऐप ने अपना डेटा फेसबुके साथ साझा करने की बात कही है. ऐसे में लोगों ने वाट्सऐप के विकल्प के तौर पर Signal Messaging App को चुनना पंसद किया है. क्योंकि यह ऐप वाट्सऐप सहित दूसरे ऐप की तुलना में ज्यादा सुरक्षित माना जा रहा है. आइए जानते है Signal Messaging App के बारे में वो सभी बाते जो आपको अब तक पता नहीं हो गई

इसे पहले की हम Signal Messaging App के बारे में बात करें उससे पहले हम आपको थोड़ा पीछे ले जाना चाहते है दरसल इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप WhatsApp को दो लोगों ने मिल कर बनाया था और बाद में फेसबुक ने WhatsApp को खरीद लिया. WhatsApp के एक फाउंडर ने कुछ समय के बाद पैसे लेकर WhatsApp का दामन छोड़ दिया और उन्होंने एक शख्स के साथ मिल कर Signal मैसेंजर तैयार कर लिया. हालांकि Signal का वजूद पहले से था, लेकिन तब ये किसी और नाम से था.

WhatsApp को ब्रायन ऐक्टन और जेन कुम ने मिल कर तैयार किया था. 2014 में फेसबुक ने WhatsApp खरीदा और 2017 में WhatsApp के को-फाउंडर ब्रायन ऐक्टन ने कंपनी छोड़ दी. कंपनी छोड़ने की वजह मार्क जकरबर्ग के साथ WhatsApp की पॉलिसी को लेकर तकरार बताई जाती है. एक न्यूज एजेंसी की गई बातचीत में ब्रायन ऐक्टन ने तब बताया था कि WhatsApp अपनी पहचान खो चुका है.

अब हम आपको वाट्सऐप के को-फाउंडर और Signal Messenger App के संस्थापक Brian Acton के बारे में बताते है Brian Acton व्हाट्सएप संस्थापक बनने से पहले दुनिया की जानी मानी कंपनी याहू (Yahoo!) में काम करते थे। इन्होंने अपने सहयोगी जो कि उनके साथी याहू में काम करते थे Jan Koum के साथ मिलकर के मोबाइल मैसेजिंग एप्लीकेशन व्हाट्सएप को स्थापित किया था। जिसे फेसबुक ने साल 2014 में 19 बिलियन डॉलर में खरीदा था। इसके साथ ही ब्रायन एक्टन दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों की लिस्ट में शामिल हो गए। ब्रायन एक्टन वर्तमान समय में दुनिया के 836 वें सबसे अमीर व्यक्ति है। जिनका कुल नेटवर्क 2.5 अरब डॉलर हैं।

चुकी फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग चाहते थे कि WhatsApp से पैसे कमाए जाएं, लेकिन इसके फाउंडर इसके अगेंस्ट में थे. मार्क जकरबर्ग नहीं माने और ब्रायन ने कंपनी छोड़ दी. हालाकि इसके लिए उन्होंने काफी पैसे लिए और अरबति बन गए. फेसबुक से निकलने के बाद 2018 में उन्होंने लोगों से फेसबुक डिलीट करने को कहा. क्योंकि तब कैंब्रिज अनालाटिका का मामला आया था जहां फेसबुक पर यूजर्स का डेटा चोरी करने का आरोप लगा. इसी साल यानी 2018 में ब्रायन ऐक्टन एक मश्हूल कंप्यूटर साइंटिस्ट और कोडर Moxie Marlinspike के साथ मिल कर Signal Messenger LLC की शुरुआत कर दी.

अब कौन हैं Moxie Marlinspike? इनके बारे में भी जानिए

Moxie Marlinspike को Signal के फाउंडर के तौर पर जाना जाता है, क्योंकि इस ऐप में उनका ही दिमाग लगा है. Moxie Marlinspike ने 2013 में ही Open Whisper Systems की शुरुआती की थी और इसी के तहत बाद Signal प्रोटोकॉल और Signal मैसेंजर की शुरुआत की गई.

Moxie Marlnspike एक सिक्योरिटी रिसर्चर भी हैं और उन्होंने 2010 में Whisper System की शुरुआत की. इसके एक एन्क्रिप्टेड टेक्सटिंग प्रोग्राम TextSecure लॉन्च किया गया. इसी दौरान एन्क्रिप्टेड वॉयस कॉलिंग के लिए RedPhone भी पेश कर दिया गया. कुल मिला कर यही वो समय था जब Signal मैसेंजर की नींव रखी गई या कॉन्सेप्ट शुरू किया गया.

वाट्सऐप के को-फाउंडर Brian Acton ने वाट्सऐप को छोड़ने के बाद Signal Messaging App में 2017 में करीब 50 मिलियन डॉलर का इन्वेस्ट किया था. इसके साथ ही टेस्ला के सीईओ और दुनिया के सबसे अमीर शख्स एलन मस्क ने ट्वीट करके अपने फॉलोअर्स को Signal App यूज करने की सलाह दी. मस्क के इस ट्वीट ने सोशल मीडिया पर सनसनी मचा दी है. 2.7 लाख से ज्यादा लोग इस ट्वीट को लाइक कर चुके हैं और 32 हजार से ज्यादा रीट्वीट हो चुके हैं.

इसके साथ Signal Messaging App के जबरदस्त फ़क्शर्स भी जान लीजिये सिग्नल एप का दावा है कि आपकी चैटिंग का एक भी हिस्सा अपने सर्वर पर स्टोर नहीं करती है. आपकी चैटिंग हिस्ट्री आपके फोन में ही रहती है और यदि आपका फोन खो जाता है या खराब हो जाता है. तो आपकी चैटिंग हिस्ट्री भी खत्म हो जाएगी. सिग्नल ऐप के साथ सबसे अच्छी बात यह है वह किसी अन्य कंपनी के साथ आपका डेटा शेयर नहीं करता है. इसका जिक्र कंपनी की प्राइवेसी पॉलिसी में कहीं भी नहीं है. एप्पल के ऐप स्टोर पर Signal ऐप के साथ दी गई जानकारी के मुताबिक ऐप यूजर्स से मोबाइल नंबर के अलावा कोई भी जानकारी नहीं लेता है और इस मोबाइल नंबर से वह आपकी पहचान को उजागर नहीं करने का दावा करता है.

इसके साथ इंटरनेट की दुनिया में हर दिन नए-नए चीजों का अविष्कार होता रहता है। लेकिन कुछ साधारण दिखने वाले अविष्कार भी इस दुनिया की जरुरत बन जाते है और अपनी के झाप जोड़ जाते है लेकिन अब देखना होगा कि Signal Messaging App इस दुनिया पर कितनी झप जोड़ता है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here