पश्चिम बंगाल : चुनाव तारीखों के एलान के बाद, अब बंगाल की लड़ाई ‘बुआ – बेटी’ पर उलझी, बीजेपी ने जारी किया नौ महिला नेताओं का पोस्टर

West Bengal Elections 2021: पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावो की तारीख नजदीक आ रही है। जिसके चलते वहाँ की सियासत गर्माती नजर आ रही है।

पश्चिम बंगाल : चुनाव तारीखों के एलान के बाद, अब बंगाल की लड़ाई ‘बुआ - बेटी’ पर उलझी, बीजेपी ने जारी किया नौ महिला नेताओं का पोस्टर
पश्चिम बंगाल : चुनाव तारीखों के एलान के बाद, अब बंगाल की लड़ाई ‘बुआ - बेटी’ पर उलझी, बीजेपी ने जारी किया नौ महिला नेताओं का पोस्टर

(श्रद्धा उपाध्याय), West Bengal Elections 2021: पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावो की तारीख नजदीक आ रही है। जिसके चलते वहाँ की सियासत गर्माती नजर आ रही है। वही अब चुनावों की तारीखों का भी एलान हो चुका है। अब बीजेपी को जिस चीज़ की कमी खल रही है वो एक विचित्र चेहरे की। वही टीएमसी बार – बार बीजेपी को अपना सीएम कैंडिडेट बताने के लिए उकसा रही है। यानि अब टीएमसी बीजेपी पर हमला करती नजर आ रही है।

बता दें आगामी बंगाल चुनावों से पहले बीजेपी ने अपनी नौ महिला नेताओं का पोस्टर जारी कर दिया है। साथ ही एक नारा देते हुए कहा है कि – ‘बंगाल को अपनी बेटी चाहिए बुआ नहीं’। वही पोस्टर को बंगाली भाषा के पिशी शब्दों में पोस्ट किया गया है। ये वो शब्द है जो बीजेपी ममता बनर्जी और उनके भतीजे अभिषेक बनर्जी के खिलाफ ‘पिशी-भायपो’ कहकर करती है। इससे टीएमसी ने ‘स्थानीय बनाम बाहरी’ मुद्दे को और जोर देना शुरू कर दिया है। साथ ही तृणमूल कांग्रेस के महासचिव पार्थ चटर्जी का कहना था कि राज्य के लोग अपनी बेटी चाहते हैं जो पिछले कई साल से मुख्यमंत्री के रूप में उनके साथ हैं. हम बंगाल में किसी भी बाहरी को लाना पसंद नहीं करेंगे।

बीजेपी की नौ महिलाएं
वही बंगाल ने जिस पोस्टर को जारी कर अपने बेटी लाने की बात कही है उसमे – देबोश्री चौधरी, लॉकेट चटर्जी, रूपा गांगुली, भारती घोष, मफूजा खातून, श्रीपूर्णा मित्र चौधरी, तनुजा चक्रबर्ती, फाल्गुनी पात्रा, और अग्निमित्रा पॉल शामिल हैं।

इन चरणों में होंगे चुनाव
पश्चिम बंगाल में 27 मार्च से विधानसभा चुनाव होने है। वही आठ चरणों में ये मतदान प्रक्रिया संपन्न होगी।
– पहले चरण में पांच जिलों की 30 विधानसभा सीटों पर 27 मार्च को,
– 1 अप्रैल को दूसरे चरण में चार जिलों की 30 विधानसभा सीटों पर,
– 6 अप्रैल को तीसरे चरण के तहत 31 विधानसभा सीटों पर
-10 अप्रैल को चौथे चरण के तहत पांच जिलों की 44 सीटों पर
– पांचवें चरण में छह जिलों की 45 सीटों पर 17 अप्रैल
– 22 अप्रैल को छठे चरण के तहत चार जिलों की 43 सीटों पर
– 26 अप्रैल को सातवें चरण के तहत पांच जिलों की 36 सीटों पर
– 29 अप्रैल को आठवें चरण में चार जिलों की 35 सीटों पर मतदान होगा।

आपको बता दें आने वाले साल में पश्चिम बंगाल की 294 सीटों पर आठ चरणों में चुनाव होने है। वही पश्चिम बंगाल की विधानसभा का कार्यकाल 30 मई को पूरा हो रहा है। यहां तृणमूल कांग्रेस पिछले 10 सालों से सत्ता में है। परंतु इस बार बीजेपी और टीएमसी में कड़ी टक्कर देखने को मिल रही है जिसमे बीजेपी टीएमसी को इस बार कड़ी चुनौती देती नजर आ रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here