केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद का केजरीवाल सरकार पर हमला, कहा -‘ऑक्सीजन और मोहल्ला क्लीनिक से दवा तो पहुंचा नहीं सके’, राशन माफिया के नियंत्रण में है दिल्ली सरकार

केंद्र सरकार पर हर समय आरोप लगाने वाले दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल पर आज केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के दिग्गज नेता रविशंकर प्रसाद ने जमकर आरोप लगाए है।

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद का केजरीवाल सरकार पर हमला, कहा -'ऑक्सीजन और मोहल्ला क्लीनिक से दवा तो पहुंचा नहीं सके', राशन माफिया के नियंत्रण में है दिल्ली सरकार
केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद का केजरीवाल सरकार पर हमला, कहा -'ऑक्सीजन और मोहल्ला क्लीनिक से दवा तो पहुंचा नहीं सके', राशन माफिया के नियंत्रण में है दिल्ली सरकार

(श्रद्धा उपाध्याय), नई दिल्ली: केंद्र सरकार पर हर समय आरोप लगाने वाले दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल पर आज केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के दिग्गज नेता रविशंकर प्रसाद ने जमकर आरोप लगाए है। आज रविशंकर प्रसाद में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस जारी कर दिल्ली सरकार से कई सवाल किये है। इसके साथ ही दिल्ली के सीएम केजरीवाल पर कई तरह के आरोप भी लगाए। उनका कहना है घर-घर राशन योजना के पीछे दिल्ली सरकार की मंशा घोटाले को बढ़ावा देने की है, ना कि आम जनता को सुविधा पहुंचाने की। उन्होंने खाद्य सुरक्षा कानून, 2013 के प्रावधानों का जिक्र करते हुए यह भी दावा किया कि यह योजना कानूनी तौर पर भी अमान्य है।

वही आज प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान रविशंकर प्रसाद ने केजरीवाल पर जमकर निशाना साधा। और कहा – ‘दिल्ली सरकार राशन माफिया के नियंत्रण में है। घर-घर राशन पहुंचाने की बात करने केजरीवाल ऑक्सीजन और मोहल्ला क्लीनिक से दवा तो पहुंचा नहीं सके। हर घर अन्न भी एक जुमला है। आगे रविप्रसाद कहते है। केंद्र सरकार पूरे देश की गरीब जनता को दो रुपये प्रति किलो गेहूं, तीन रुपये प्रति किलो चावल देती है। वही कोरोना में इसे पिछले साल की तरह इस साल भी नंवबर दीपावली तक के मुफ्त कर दिया गया है।’ केंद्र सरकार इस कार्य में हर साल करीब दो लाख करोड़ रूपये खर्च करती है।

केजरीवाल और मनीष सिसौदिया का आया ये जवाब
वही रविशंकर प्रसाद के इस तरह दिल्ली सरकार पर आरोपों के बाद सीएम केजरीवाल और उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी ट्वीट कर इसका जवाब दिया है। केजरीवाल ने ट्वीट कर लिखा -‘आज लोग केंद्र में ऐसा नेतृत्व देखना चाहते हैं जो, पूरा दिन राज्य सरकारों को गाली देने और उनसे लड़ने की बजाय, सबको साथ लेकर चले। देश तब आगे बढ़ेगा जब 130 करोड़ लोग, सभी राज्य सरकारें और केंद्र मिलकर टीम इंडिया बनकर काम करेंगे। इतना गाली गलौज अच्छा नहीं

वही मनीष सिसोदिया ने केंद्र पर आरोप लगाते हुए कहा कि -“ऑक्सीजन, राशन, परीक्षा या वैक्सीन का मसला हो, सभी में केंद्र सरकार पूरी तरह विफल रही है। अरविंद केजरीवाल ने गरीब लोगों का राशन घर पहुंचाने की बात कही थी तो आज केंद्रीय मंत्री आकर गाली-गुफ्तार करने लगे।”

इसके अलावा भी केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कई आरोप लगाए है। उनका कहना है देश के 34 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने वन नेशन, वन राशन कार्ड योजना को स्वीकार किया। फिर दिल्ली सरकार ने इसे क्यों नहीं माना? क्या परेशानी थी इस योजना से दिल्ली सरकार को ? जबकि सिर्फ केंद्र शासित राज्य दिल्ली और पश्चिम बंगाल व आसाम को छोड़कर यह स्कीम हर जगह लागू है। वही घर-घर राशन पहुंचाने के पीछे कितना बड़ा स्कैम हो सकता है। ये हम नहीं सोच सकते। आप अपनी राशन की दुकानों पर ई-पॉश मशीन से ऑथेंटिकेशन कब शुरू करेंगे? आपने 2018 में इसे समाप्त किया और अब तक शुरू नहीं किया है।

साथ ही उन्होंने दिल्ली सरकार को कहा कि अगर दिल्ली सरकार घर-घर राशन योजना को खाद्य सुरक्षा कानून के समान मानती है तो केंद्र के पास ये प्रस्ताव लेकर जाये। केजरीवाल जी, अगर आपमें हिम्मत है तो अपना नया प्रस्ताव भारत सरकार को भेजिए। केंद्र सरकार के इस इस कानून के अंदर प्रावधान है। हम खाद्य सुरक्षा कानून का उल्लंघन नहीं करते हुए इस प्रस्ताव पर खुले मन से विचार करेंगे।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here