ट्विटर ने दिल्ली हाईकोर्ट को कहा – भारत में शिकायत अधिकारी की नियुक्ति के लिए लगेगा 8 हफ्तों का समय

माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर और सरकार के बीच का आपसी मनमुटाव कम होने की बढ़ता जा रहा है। कई बार बोलने के बावजूद ट्विटर ने अबतक आईटी अधिकारी की नियुक्ति नहीं की।

ट्विटर ने दिल्ली हाईकोर्ट को कहा - भारत में शिकायत अधिकारी की नियुक्ति के लिए लगेगा 8 हफ्तों का समय
ट्विटर ने दिल्ली हाईकोर्ट को कहा - भारत में शिकायत अधिकारी की नियुक्ति के लिए लगेगा 8 हफ्तों का समय

(श्रद्धा उपाध्याय), नई दिल्ली: माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर और सरकार के बीच का आपसी मनमुटाव कम होने की बढ़ता जा रहा है। कई बार बोलने के बावजूद ट्विटर ने अबतक आईटी अधिकारी की नियुक्ति नहीं की। इसको लेकर अदालत कई बार ट्विटर को चेतवानी दे भी चुकी है। वही अब ऐसा लग रहा है ट्विटर भारत के आईटी नियमो का पालन करने के लिए तैयार हो गया है। क्यूंकि ट्विटर द्वारा दिल्ली हाईकोर्ट को यह बताया गया है कि वो भारत में शिकायत अधिकारी 8 हफ्तों के भीतर नियुक्त करेगा। यानि कंपनी ने अदालत से शिकायत अधिकारी नियुक्त करने के लिए 8 हफ्तों की मोहलत मांगी है। इसके साथ ही ट्विटर ने दिल्ली उच्च न्यायालय को यह भी बताया कि उसने दो दिन पहले एक अंतरिम मुख्य अनुपालन अधिकारी नियुक्त किया है, जो भारत का निवासी है।

बता दें ट्विटर ने गुरुवार को दिल्ली हाईकोर्ट से कहा कि वो आईटी नियमो का पालन करते हुए भारत में संपर्क कार्यालय स्थापित करेगा। इसके लिए उसको कुछ समय का वक़्त चाहिए। साथ ही ट्विटर ने कोर्ट से यह भी कहा कि वह 11 जुलाई तक अपनी पहली अनुपालन रिपोर्ट पब्लिक करेगा। ट्विटर ने ये फैसला अदालत की फटकार के बाद लिया है।

दरअसल, कोर्ट ने ट्विटर को फटकार लगाते हुए कहा था कि वह देश के नए आईटी नियमों का पालन करने के लिए अधिकारी की नियुक्ति को हल्के में नहीं ले सकता। जिसके जवाब में ट्विटर ने कहा -”यह उस पद के लिए आवेदन स्वीकार कर रहा है, जिसके लिए नौकरी के पोस्ट किए गए हैं। महत्वपूर्ण भूमिका के लिए एक पूर्णकालिक अधिकारी आठ सप्ताह में नियुक्त किया जाएगा।”

वही दिल्ली हाईकोर्ट पहले भी ट्विटर को इस विषय पर डेडलाइन जारी कर चुका है। जो आज खत्म हो गई है। इसके बाद ट्विटर द्वारा कंपनी को चेतावनी दी गई। और अब फिर ट्विटर ने आठ हफ्तों का वक़्त माँगा है।

जानकारी के लिए बता दें ये विवाद उस वक़्त बढ़ा जब भारत सरकार और ट्विटर के बीच जंग के बाद शिकायत अधिकारी धर्मेंद्र चतुर ने 21 जून को अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया था। जिसके बाद ट्विटर द्वारा कैलिफोर्निया जेरेमी केसल को भारत का शिकायत अधिकारी बनाया गया था। परंतु ये भारत के आईटी नियमों के विपरीत कदम था। क्यूंकि भारत के नए आईटी नियमों के मुताबिक सभी अधिकारी भारतीय मूल के होने चाहिए। इस मामले को लेकर वकील अमित आचार्या ने दिल्ली कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में शिकायत दर्ज कराई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here