Toolkit Case: टूलकिट केस में पटियाला हाउस कोर्ट ने द‍िशा रवि को एक द‍िन के लिए पुलिस हिरासत में भेजा

Toolkit Case: टूलकिट मामले (Toolkit Case) को लेकर दिल्‍ली पुलिस ने दिशा रवि (Disha Ravi) को आज दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया गया,

Toolkit Case: टूलकिट केस में पटियाला हाउस कोर्ट ने द‍िशा रवि को एक द‍िन के लिए पुलिस हिरासत में भेजा
Toolkit Case: टूलकिट केस में पटियाला हाउस कोर्ट ने द‍िशा रवि को एक द‍िन के लिए पुलिस हिरासत में भेजा

Toolkit Case: टूलकिट मामले (Toolkit Case) को लेकर दिल्‍ली पुलिस ने दिशा रवि (Disha Ravi) को आज दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया गया, जहां पर पटियाला हाउस कोर्ट ने आरोपी दिशा रवि को एक और दिन की पुलिस कस्टडी (Police Custody) में भेजने का आदेश दिया है. वही दिल्ली पुलिस ने दिशा रवि (Disha Ravi) की 5 दिन की रिमांड मांगी थी दिल्ली पुलिस (Delhi Police) का कहना है कि वह दिशा रवि (Disha Ravi) को आरोपी निकिता जैकब (Nikita Jacob) और शांतनु (Shantanu Muluk) के साथ बिठाकर कांफ्रेंट करवाना है।

अब दिल्ली पुलिस कस्टडी के दौरान आरोपी दिशा रवि (Disha Ravi) के साथ आरोपी शांतनु (Shantanu Muluk) और आरोपी निकिता जैकब (Nikita Jacob) को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ होगी. दिशा रवि (Disha Ravi) का 3 दिन का न्यायिक हिरासत आज खत्म हो रही थी. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल सेल ने पटियाला हाउस कोर्ट से कहा कि इस मामले में शांतनु और निकिता जैकब दो आरोपी हैं. शांतनु को वहां की अदालत ने 10 दिन का ट्रांजिट बेल दिया है.

वहीं निकिता जैकब (Nikita Jacob) को हाईकोर्ट से ट्रांजिट बेल मिला हुआ है. दिशा रवि (Disha Ravi) ने उसके ऊपर लगाए गए सारे आरोप शांतनु (Shantanu Muluk)और निकिता जैकब (Nikita Jacob) पर शिफ्ट कर दिया है। ऐसे में दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के सामने सभी आरोपियों को आमने-सामने बैठा कर पूछताछ करने के अलावा कोई विकल्प नहीं है. निकिता जैकब (Nikita Jacob) को पहले भी जांच अधिकारी ने नोटिस दिया था, लेकिन जांच में वह शामिल नहीं हुई और हाईकोर्ट चली गई. अदालत से दिल्‍ली पुलिस (Delhi Police) ने कहा कि, ”टूलकिट पर कई तरह के हाइपर लिंक दिए गए, जो किसी दूसरे पेज पर ले जा रहे है। 11 जनवरी को यह पूरी कहानी शुरू होती है. एमओ धालीवाल जो पोएटिक जस्टिस (Poetic Justice Foundation) का संस्थापक है, वह खलिस्तान का समर्थक है। इस मामले दिशा रवि (Disha Ravi) को छोड़कर सभी को प्रोटक्शन मिला हुआ।’

आगे दिल्ली पुलिस ने कहा, ‘टूलकिट पर जो हाइपर लिंक है वो सभी भारत के खिलाफ बड़ी साजिश को दर्शाते हैं. अब हम इससे ज्यादा पब्लिक डोमेन में नही बोलेंगे.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here