ये ट्रांसपेरेंट मास्क कोरोना की तीसरी लहर से करेगा बच्चों का बचाव, ट्रायल में भी सफल साबित, जानिए कब से होगा बाजारों में उपलब्ध और कीमत

कोरोना की दूसरी लहर में जहाँ युवाओं की अधिक जान गई। वही अब वैज्ञानिकों का कहना है कि कोरोना की तीसरी लहर बच्चो के लिए घातक साबित होगी।

ये ट्रांसपेरेंट मास्क कोरोना की तीसरी लहर से करेगा बच्चों का बचाव, ट्रायल में भी सफल साबित, जानिए कब से होगा बाजारों में उपलब्ध और कीमत
ये ट्रांसपेरेंट मास्क कोरोना की तीसरी लहर से करेगा बच्चों का बचाव, ट्रायल में भी सफल साबित, जानिए कब से होगा बाजारों में उपलब्ध और कीमत

(श्रद्धा उपाध्याय), चंडीगढ़ : कोरोना की दूसरी लहर में जहाँ युवाओं की अधिक जान गई। वही अब वैज्ञानिकों का कहना है कि कोरोना की तीसरी लहर बच्चो के लिए घातक साबित होगी। इसका एक कारण बच्चो के लिए अभी वैक्सीन उपलब्ध नहीं होना है। वही वैक्सीन के अलावा कोरोना से जंग में मास्क का सबसे अधिक सहारा लिया जा रहा है। ताकि कोरोना से बचा जा सके। इसी बीच पंजाब ने राज्य में तीसरी लहर से पहले बच्चों के बचाव के लिए एक अनोखा मास्क बनाया है। जिसका ट्रायल भी सफल हो गया है।

बता दें बच्चों का ये मास्क केंद्रीय वैज्ञानिक उपकरण संगठन ने बनाया है। जो कि अन्य मास्को से थोड़ा अलग है। ये मास्क ट्रांसपेरेंट है। इस मास्क को बनाने के लिए सीएसआईओ का उत्तर प्रदेश की एक कंपनी के साथ करार हुआ है। वही अब इसको बाजार में लाने से पहले इन मास्क का एक ट्रायल किया गया। ये ट्रायल उन बच्चों पर किया गया जो बोल नहीं सकते थे। जो कि सफल साबित हुआ। जिसके बाद अब इन मास्क को जून के अंत में बाजारों में उपलब्ध कराया जा सकता है।

मास्क की खास बनावट और कीमत
बच्चो को कोरोना की तीसरी लहर से बचाव के लिए बनाये गए इस ट्रांसपेरेंट मास्क की बनावट पॉलीमर से बनी हुई है। जिसमें आउटलाइन अल्ट्रासोनिक वेल्डिंग की गई है। जो कि वायरस का डटकर मुकाबला करेगी। वैज्ञानिकों ने बताया कि इस मास्क को लांच करने से पहले उन्होंने एक गूंगे बहरे स्कूल के बच्चो पर इसका प्रयोग किया जो कि सफल साबित हुआ। उन्होंने देखा कि मास्क को लगाने के बाद बच्चों को किसी भी प्रकार से सांस लेने में कोई परेशानी नहीं हुई। वही इसकी कीमत की बात करें तो यह 200 से 300 रूपये में उपलब्ध होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here