राकेश टिकैत ने पीएम मोदी के बयान के बाद कहा “हमने कब कहा कि MSP समाप्त हो रहा है?, मएसपी पर कानून जरूरी”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज यानि सोमवार को राज्यसभा में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर अभार व्यक्त करते हुए कहा एमएसपी (MSP) था, एमएसपी है और एमएसपी रहेगा

राकेश टिकैत ने पीएम मोदी के बयान के बाद कहा
राकेश टिकैत ने पीएम मोदी के बयान के बाद कहा "हमने कब कहा कि MSP समाप्त हो रहा है?, मएसपी पर कानून जरूरी" (ANI)

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज यानि सोमवार को राज्यसभा में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर अभार व्यक्त करते हुए कहा एमएसपी (MSP) था, एमएसपी है और एमएसपी रहेगा, जिसका जबाव देते हुए भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने कहा कि न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) को लेकर उलझाया जा रहा है। राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने सोमवार को किसानों से उनकी उपज पर न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) की गारंटी के लिए एक कानून बनाने की मांग की। राकेश टिकैत ने कहा, एमएसपी पर कानून जरूरी है एमएसपी पर कानून बनने से ही देश के किसानों को फायदा होगा।

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने कहा कि “हमने कब कहा कि MSP समाप्त हो रहा है? हमने कहा कि MSP पर एक कानून बनाया जाएगा। अगर ऐसा कोई कानून बनता है, तो देश के सभी किसान लाभान्वित होंगे। अभी, MSP और किसानों पर कोई कानून नहीं है। एमएसपी पर कानून नहीं होने से ही व्यापारी किसानों को लूटते हैं।”

बता दे राकेश टिकैत ने राज्यसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन के तुरंत बाद ये बात कही। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था, ‘‘MSP (न्यूनतम समर्थन मूल्य) है, एसएसपी था और एमएसपी रहेगा।’’ इसके साथ ही पीएम मोदी किसानों से आंदोलन वापस लेने की अपील की है।

नेता राकेश टिकैत ने कहा, ”एमएसपी (MSP) पर कानून बने यह किसानों के लिए फायदेमंद होगा। देश में भूख से व्यापार करने वालों को बाहर निकाला जाएगा। जिस तरह फ्लाइट के टिकट की कीमत दिन में चार बार ऊपर-नीचे होती है, उस तरह अनाज का दाम भूख के आधार पर नहीं तय होगा। आज भी ग्रामीण क्षेत्रों में दूध 22 से 28 रुपये प्रति किलो के हिसाब से बिक रहा है। प्रधानमंत्री को अपील करनी चाहिए कि विधायक और सांसद अपनी पेंशन छोड़े उसके लिए यह मोर्चा धन्यवाद करेगा।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here