Rail Roko Andolan: कृषि कानूनों के खिलाफ पटरियों पर बैठे किसान

विवादित कृषि कानूनों के खिलाफ में आज देश में किसानों का रेल रोको आंदोलन चल रहा हैं. इस 12 से 4 बजे तक चलने वाले चार घंटे लंबे आंदोलन में किसानों ने हरियाणा के सोनीपत, अंबाला और जींद में पटरियों पर धरणा दिया.

Rail Roko Andolan: कृषि कानूनों के खिलाफ पटरियों पर बैठे किसान
Rail Roko Andolan: कृषि कानूनों के खिलाफ पटरियों पर बैठे किसान (Photo: Twitter ANI)

(रिदम झा), Rail Roko Andolan: विवादित कृषि कानूनों के खिलाफ में आज देश में किसानों का रेल रोको आंदोलन चल रहा हैं. इस 12 से 4 बजे तक चलने वाले चार घंटे लंबे आंदोलन में किसानों ने हरियाणा के सोनीपत, अंबाला और जींद में पटरियों पर धरणा दिया. इस रेल रोको अभियान में महिलाएं भी शामिल हैं. वहीं, आंदोलन को देखते हुए हरियाणा के चरखी दादरी में गांव के लोगों ने किसानों को खाने-पीने के लिए चाय-पकौड़े दिए. साथ ही तैनात पुलिस और अधिकारियों को भी खिलाया.

वहीं, देश में आंदोलन के कारण सुरक्षा के मद्देनजर रेलवे ने सुरक्षाबलों की 20 अतिरिक्त कंपनियों को तैनात किया है. रेलवे ने खासकर पंजाब, हरियाणा, यूपी, पश्चिम बंगाल पर ध्यान केंद्रित किया है. हालांकि भारतीय किसान यूनियन ने आंदोलनकारियों से शांतिपूर्ण तरीके से आंदोलन करने की अपील की है. वहीं सुरक्षा के मद्देनजर देश के कई संवेदनशील जिलों में स्टेशनों के बाहर पुलिसकर्मियों को अलर्ट किया गया है.

  • किसानों के रेल रोको आंदोलन के कारण आज 20 ट्रेनें आंशिक रूप
    से प्रभावित हुई.
  • कुरुक्षेत्र में गीता जयंती एक्सप्रेस ट्रेन को भी रोका गया.
  • ओडिशा से उत्तराखंड तक जाने वाली उत्कल एक्सप्रेस को भी गाजियाबाद रेलवे स्टेशन पर रोका गया क्योंकि मोदीनगर रेलवे स्टेशन पर किसानों का जमावड़ा पटरियों पर था.
  • नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर दिल्ली पुलिस ने फ्लैग मार्च किया है. दिल्ली के अंदर किसी भी रेलवे ट्रैक पर किसानों को नहीं पाया गया है. पुलिस ने रेल रोको आंदोलन के बीच नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं.

गुरुवार को भी होगा 12 से 4 बजे तक रेल रोको आंदोलन
किसान संगठन ने कहा हरियाणा में गुरुवार को भी 12 से 4 बजे तक ट्रेनों को रोका जाएगा. जिसकी वजह से 19 से ज्यादा ट्रेनें प्रभावित होंगी. इनमें दिल्ली-अंबाला लाइन पर 8 ट्रेनों को अलग-अलग स्टेशनों पर रोका जाएगा. रोहतक और बहादुरगढ़ से होकर गुजरने वाली 4-4 ट्रेनें प्रभावित होंगी. हिसार, रेवाड़ी और सिरसा से गुजरने वाली यात्री गाड़ियों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा, क्योंकि 12 से 4 बजे के बीच किसी ट्रेन का टाइम 12 से 4 का नहीं है.

किसानों के रेल रोको अभियान पर भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा, ‘ये आंदोलन 12 बजे से 4 बजे तक चलेगा, आंदोलन शांतिपूर्ण होगा, वैसे भी ट्रेंन चल ही नहीं रही है।’

वहीं, हिसार में राकेश टिकैत ने कहा ‘अगला लक्ष्य 40 लाख ट्रैक्टरों का है, देशभर में जाकर 40 लाख ट्रैक्टर इकट्ठा करेंगे, ज्यादा समस्या की तो ये ट्रैक्टर भी वहीं हैं, ये किसान भी वही है, ये फिर दिल्ली जाएंगे. इस बार हल क्रांति होगी, जो खेत में औजार इस्तेमाल होते हैं, वे सब जाएंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here