Punjab Municipal Poll Results: पंजाब निकाय चुनाव में कांग्रेस की हो गई बल्ले-बल्ले,सातों नगर निगम जीतीं BJP का किया सूपड़ा साफ

Punjab Municipal Poll Results: पंजाब निकाय चुनाव में कांग्रेस की बल्ले-बल्ले हो गई. कांग्रेस ने पंजाब की सात नगर निगम चुनाव में भाजपा को पूरी तरह से हरा दिया है.

Punjab Municipal Poll Results: पंजाब निकाय चुनाव में कांग्रेस की हो गई बल्ले-बल्ले,सातों नगर निगम जीतीं BJP का किया सूपड़ा साफ
Punjab Municipal Poll Results: पंजाब निकाय चुनाव में कांग्रेस की हो गई बल्ले-बल्ले,सातों नगर निगम जीतीं BJP का किया सूपड़ा साफ

(रिदम झा), Punjab Municipal Poll Results: पंजाब निकाय चुनाव में कांग्रेस की बल्ले-बल्ले हो गई. कांग्रेस ने पंजाब की सात नगर निगम चुनाव में भाजपा को पूरी तरह से हरा दिया है. कांग्रेस पार्टी ने मोगा, होशियारपुर, कपूरथला, अबोहर, पठानकोट, बटाला और बठिंडा नगर निगम में जीत दर्ज कर ली है. जब की बठिंडा नगर निगम 53 साल बाद कांग्रेस के हाथ आई है.

बता दे कि मतदान पंजाब की 109 नगर निकाय-नगर पंचायत और सात नगर निगम के लिए हुए है, जिसकी मतगणना जारी है. वहीं शिरोमणि अकाली दल की हरसिमरत बादल बठिंडा लोकसभा का प्रतिनिधित्व कर रही हैं. लेकिन राज्य में मोदी सरकार के कृषि कानून के खिलाफ किसानों के विरोध के बाद हरसिमरत बादल ने खुद को सरकार से अलग कर लिया था. वहीं मोहाली नगर निगम का नतीजा गुरुवार को आएगा.

अगर बात बठिंडा शहर की करे तो यहां पर कांग्रेस के मनप्रीत सिंह बादल राज्य के वित्त मंत्री और विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं. सुखबीर सिंह बादल के चचेरे भाई है मनप्रीत सिंह. सुखबीर सिंह बादल शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख हैं.

वहीं, शिरोमणि अकाली दल ने इस बार बड़ी बाजी मारते हुए 14 फरवरी को हुए मजीठिया नगर निकाय की 13 में से 10 सीटें जीत ली है. हालांकि विवादित तीन कृषि कानूनों को लेकर किसानों के प्रदर्शन के बावजूद चुनाव में 71.39 फीसदी मतदान दर्ज किया गया है.

चुनावी मैदान में उतरे 9,222 उम्मीदवार
इस बार चुनावी मैदान में 9,222 उम्मीदवार उतरे हैं. जिसमें सबसे ज्यादा 2,831 उम्मीदवार निर्दलीय हैं. वहीं अगर पार्टी की बात करे तो कांग्रेस की सबसे ज्यादा 2,037 उम्मीदवार चुनाव में खड़े हैं. कांग्रेस के मुक्तसर के उम्मीदवार को बिना विरोध चुन गया है. वहीं अगर अब भाजपा की बात करे तो भाजपा ने केवल 1,003 उम्मीदवार ही खड़े किए हैं.  भाजपा अपने सहयोगी दल शिरोमणि अकाली दल के बिना चुनाव लड़ रही है. वहीं शिरोमणि अकाली दल ने अपने 1,569 उम्मीदवारों को चुनावी मैदान में उतारा हैं.

माइक्रो-ऑब्जर्वर को किए जाए तैनात- डिप्टी कमिश्नरों
पंजाब चुनाव आयोग ने डिप्टी कमिश्नरों को आदेश दिया था कि संवेदनशील और अतिसंवेदनशील वार्डों में गणना के लिए माइक्रो-ऑब्जर्वर को तैनात किए जाए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here