टोक्यो ओलंपिक में भारत का नाम रोशन कर स्वदेश पहुंची मीराबाई चानू, एयरपोर्ट पर हुआ शानदार स्वागत, देखे वीडियो, मणिपुर सरकार का बड़ा एलान

टोक्यो ओलंपिक में मणिपुर के छोटे से गाँव की रहने वाली मीराबाई चानू ने इतिहास रच डाला। उन्होंने शनिवार को टोक्यो ओलिंपिक में महिलाओं के 49 किग्रा वर्ग में सिल्वर मेडल जीत भारत को पहला पदक दिलाया।

टोक्यो ओलंपिक में भारत का नाम रोशन कर स्वदेश पहुंची मीराबाई चानू, एयरपोर्ट पर हुआ शानदार स्वागत, देखे वीडियो, मणिपुर सरकार का बड़ा एलान
टोक्यो ओलंपिक में भारत का नाम रोशन कर स्वदेश पहुंची मीराबाई चानू, एयरपोर्ट पर हुआ शानदार स्वागत, देखे वीडियो, मणिपुर सरकार का बड़ा एलान

(श्रद्धा उपाध्याय), नई दिल्ली: टोक्यो ओलंपिक में मणिपुर के छोटे से गाँव की रहने वाली मीराबाई चानू ने इतिहास रच डाला। उन्होंने शनिवार को टोक्यो ओलिंपिक में महिलाओं के 49 किग्रा वर्ग में सिल्वर मेडल जीत भारत को पहला पदक दिलाया। इसके बाद आज जब मीराबाई चानू ने स्वदेश वापसी की तो एयरपोर्ट पर उनका जोरदार स्वागत किया गया। साथ ही मणिपुर सरकार ने एक बड़ा एलान किया है।

बता दें 26 वर्षीय मीराबाई चानू ने आज सोमवार को वतन वापसी की। जिसके बाद दिल्ली के आईजीआई एयरपोर्ट पर शानदार स्वागत हुआ। और इस बीच मौजूदा लोगो ने भारत माता की जय के भी नारे लगाए। वही स्टाफ मेंबर और अधिकारियो ने खड़े होकर ताली बजा अभिवादन किया। और उनको इस शानदार जीत की ढेरो बधाई दी। इसके बाद मीराबाई चानू सुरक्षा घेरे में एयरपोर्ट से बाहर आई। इसके अलावा बाहर आने के बाद उनका अनिवार्य आरटी-पीसीआर टेस्ट भी हुआ।

वही इस बीच खबर आ रही है कि मणिपुर सरकार ने चानू को पुलिस विभाग में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (खेल) नियुक्त करने का फैसला लिया है। इस बात की जानकारी मुख्यमंत्री सचिवालय द्वारा साझा की गई।

मीराबाई को मिल सकता है स्वर्ण पदक
मालूम हो मीराबाई चानू ने टोक्यो ओलम्पिक में सिल्वर पदक हासिल किया है और अब खबरे ये आ रही है कि उनके पदक का रंग बदल सकता है। दरअसल, वेटलिफ्टिंग मुकाबले में मीराबाई चानू और चीन की होउ जिहुई के बीच कड़ी टक्कर थी। जिसमे होउ जिहुई को स्वर्ण पदक मिला था। और मीराबाई चानू को सिल्वर पदक। वही अब बताया जा रहा है। चीन की वेटलिफ्टर होउ जिहुई का डोप टेस्ट होगा। इसके लिए उनको अभी टोक्यो में ही रोका गया है। वही अगर होउ जिहुई डोप टेस्ट में फेल होती है तो मीराबाई को रजत के बजाय स्वर्ण पदक मिल सकता है।

भारत पहुंचने के बाद मीराबाई चानू ने समाचार एजेंसी ANI से बातचीत के दौरान कहा – मैं इस ख़िताब को पाने के बाद बेहद खुश महसूस कर रही हूँ। मैंने अपने देश का नाम रोशन किया है। और इस बात की मुझे बहुत अधिक खुशी है। मैंने इसके लिए काफी कठिन परिश्रम किया है। यह मुकाबला काफी चुनौतीपूर्ण था। मैं और मेरे कोच ने 2016 में तैयारी शुरू की और 5 साल त्याग करके रियो ओलंपिक के बाद ट्रेनिंग पैटर्न में बदलाव किया। और आज टोक्यो ओलम्पिक में जीतने का हमारा सपना पूरा हो गया है।

आपको बता दें मीरबाई चानू ने शनिवार को टोक्यो ओलंपिक भारत के लिए पहला सिल्वर पदक जीत इतिहास रच डाला। उन्होंने महिलाओं के 49 किग्रा वर्ग में कुल 202 किलो वजन उठाया। चानू ने अपने चार प्रयासों में कुल 202 किग्रा वजन उठाया। वही चीन की जिहुई होउ ने कुल 210 किग्रा का वजन उठाकर स्वर्ण पदक जीत एक नया ओलंपिक रिकॉर्ड बनाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here