कार्ति चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट से राहत,मिली विदेश जाने की अनुमति

आईएनएक्‍स मीडिया केस में पूर्व वित्‍त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम को सोमवार को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है पूर्व वित्‍त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम (Karti Chidambaram) को सुप्रीम कोर्ट ने राहत देते हुए सर्शत विदेश जानी की अनुमति दे दी है।

कार्ति चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट से राहत,मिली विदेश जाने की अनुमति
कार्ति चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट से राहत,मिली विदेश जाने की अनुमति

आईएनएक्‍स मीडिया केस में पूर्व वित्‍त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम को सोमवार को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है पूर्व वित्‍त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम (Karti Chidambaram) को सुप्रीम कोर्ट ने राहत देते हुए सर्शत विदेश जानी की अनुमति दे दी है। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने इस यात्रा के लिए दो शर्तें भी रखी है। हली शर्त ये कि कार्ति चिदंबरम को विदेश जाने से पहले यात्रा संबंधी पूरी जानकारी देनी होगी।

वहीं दूसरी शर्त यह है कि सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है। कि विदेश यात्रा से पहले कार्ति चिदंबरम को दो करोड़ रुपए सिक्योरिटी के तौर पर जमा कराने होंगे बता दे कार्ति चिदंबरम (Karti Chidambaram) को छह महीने तक के लिए विदेश यात्रा की मंजूरी मिली है। वही इसके साथ प्रवर्तन निदेशालय ने आज 2 करोड़ की जमा राशि का विरोध करते हुए कहा कि एक अन्य कोर्ट ने कार्ति चिदंबरम (Karti Chidambaram) को 10 करोड़ जमा करने के लिए कहा था और इसे जारी रखा जाना चाहिए।

इसके साथ ही कार्ति चिदंबरम के वकील और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने तर्क दिया कि मुवक्किल संसद का सदस्य है और एक सांसद के लिए यह शर्त न्यायोचित नहीं है और वह कहीं भागने वाले नहीं हैं। इसलिए उसकी 10 करोड़ का जमा राशि के आदेश को माफ किया जाना चाहिए।

बता दे आईएनएक्‍स मीडिया घोटाला मामले उस समय हुआ था, जब कार्ति चिदंबरम के पिता पी चिदंबरम पूर्व केंद्रीय मंत्री थे। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि, राशि राष्ट्रीयकृत बैंक में जमा कराई जाएगी वही इससे पहले अदालत ने उन्हे ब्रिटेन, अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी एवं स्पेन की यात्रा करने की अनुमति दी थी। वही कथित धन के बारे में प्रवर्तन निदेशालय और केंद्रीय जांच ब्यूरो द्वारा जांच की जा रही है। कांग्रेस नेता ने पहली बार सुरक्षा प्रदान करने के लिए 10 करोड़ जमा किए थे, क्योंकि उन्हें इस वर्ष की शुरुआत में विदेश यात्रा की अनुमति दी गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here