INS करंज: भारतीय नौसेना की हुई ‘साइलेंट किलर’ सबमरीन, ‘मेक इन इंडिया’ मिशन की उपलब्धि

INS: भारतीय नौसेना के साथ 'मेक इन इंडिया' के मॉटो को पेश करते हुए, बुधवार को स्कॉर्पियन क्लास की सबमरीन INS करंज नौसेना के बेड़े में औपचारिक तौर पर शामिल हो गई.

INS करंज: भारतीय नौसेना की हुई ‘साइलेंट किलर’ सबमरीन, 'मेक इन इंडिया' मिशन की उपलब्धि
INS करंज: भारतीय नौसेना की हुई ‘साइलेंट किलर’ सबमरीन, 'मेक इन इंडिया' मिशन की उपलब्धि

(रिदम झा),  INS: भारतीय नौसेना के साथ ‘मेक इन इंडिया’ के मॉटो को पेश करते हुए, बुधवार को स्कॉर्पियन क्लास की सबमरीन INS करंज नौसेना के बेड़े में औपचारिक तौर पर शामिल हो गई. मुंबई के नेवल डॉकयार्ड में इस सबमरीन के कमीशनिंग का एक कार्यक्रम रखा गया, जिसमें नौसेना स्टाफ के प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह और रिटायर्ड एडमिरल वीएस शेखावत मौजूद रहे. ‘साइलेंट किलर’ नाम से मशहूर आईएनएस करंज को मेक इन इंडिया कैंपेन के तहत मजगांव डॉक लिमिटेड ने बनाई है.

ए एन आई के मुताबिक, नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह ने बताया कि नौसेना की क्षमता और बढ़ाने के लिए दशकों से आत्मनिर्भरता को प्राथमिकता दी जा रही है. जिसके बाद अब जा के आत्मनिर्भर भारत के सपने को बढ़ावा मिल रहा है. साथ ही इस मौके पर उन्होंने कहा कि ‘भारतीय नौसेना पिछले 70 सालों से स्वदेश में निर्माण और आत्मनिर्भरता की वकालत करती रही है. वर्तमान में 42 शिप और सबमरीन बन रहे हैं, उनमें से 40 नेवी के शिपयार्ड में बन रहे हैं.’

नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह ने कहा, ‘भारतीय नौसेना के विकास और आगे की दिशा को ध्यान में रखते हुए आत्मनिर्भरता हमारे मूलभूत मूल्यों में से है.

क्या है आईएनएस करंज की ताकत?
साइलेंट किलर’ नाम से मशहूर INS करंज कम आवाज से दुश्मन के जहाज को चकमा देने में माहिर है. इस स्वदेशी सबमरीन में तारपीडो जैसे हथियार भी लगे हैं, जो समुद्र के भीतर माइन्स बिछाकर दुश्मन के जहाज या सबमरीन को तबाह करने में सक्षम हैं. साथ ही इसमें दुश्मन पर निगरानी करने के लिए उपकरण भी लगे हुए हैं.

आईएनएस करंज टारपीडो और एंटी शिप मिसाइल से हमला करती है. रडार की पकड़ में नहीं आती है, ये जमीन या सतह पर मौजूद दुश्मनों पर पानी के अंदर से हमला कर सकती है. ये सबमरीन 70 मीटर लंबी और 12 मीटर ऊंची है. सबमरीन का वजन करीब 1600 टन का है. इस पनडुब्बी में ऑक्सीजन भी बनाया जा सकता है. खास स्टील से बनी इस सबमरीन में हाई टेंसाइल स्ट्रेंथ है, जो पानी की गहराई में जाकर भी काम करने की क्षमता रखती है. करंज सबमरीन 45 से 50 दिनों तक पानी में आराम से रह सकती है. ये मेक इन इंडिया सबमरीन युद्ध की स्थिति में बिना आवाज किए हुए, बिना रडार की पकड़ में आए दुश्मन के क्षेत्र से चकमा देकर निकलने में सक्षम है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here