पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय ने केंद्र सरकार के ‘कारण बताओ’ नोटिस का दिया जवाब

बीते दिनों अपने पद से रिटायरमेंट ले चुके। पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय ने आज गुरुवार को केंद्र सरकार द्वारा जारी 'कारण बताओ' नोटिस पर अपनी चुप्पी तोड़ दी है।

पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय ने केंद्र सरकार के 'कारण बताओ' नोटिस का दिया जवाब
पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय ने केंद्र सरकार के 'कारण बताओ' नोटिस का दिया जवाब

(श्रद्धा उपाध्याय): बीते दिनों अपने पद से रिटायरमेंट ले चुके। पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय ने आज गुरुवार को केंद्र सरकार द्वारा जारी ‘कारण बताओ’ नोटिस पर अपनी चुप्पी तोड़ दी है। और उन्होंने भारत सरकार द्वारा जारी इस नोटिस के जवाब में कहा है की उन्होंने ममता बनर्जी के निर्देश के अनुसार कार्य किया। और वह उस समय वो ममता बनर्जी के साथ थे और हवाई सर्वेक्षण कर रहे थे। केंद्र सरकार ने बंदोपाध्याय को यह ‘कारण बताओ’ नोटिस 31 मई को जारी किया था। जिस दिन बंदोपाध्याय ने रिटायरमेंट लिया है।

बता दें अलपन बंदोपाध्याय को लेकर केंद्र सरकार और राज्य सरकार में तकरार बढ़ती ही जा रही है। वही सीएम ममता बनर्जी लगातार अलपन बंदोपाध्याय का समर्थन कर रही है। उन्होंने कहा राज्य सरकार हमेशा अलपन के साथ खड़ी है। केंद्र सरकार में उनके शामिल नहीं होने पर चल रहे विवाद पर उनका कहना है कि उनका प्रशासन हमेशा अलपन बंदोपाध्याय के साथ खड़ा है।

मालूम हो यास तूफान के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की 28 मई को मुख्यमंत्री बनर्जी के साथ हुई समीक्षा बैठक में भाग न लेने के बाद ये विवाद बढ़ा था। अलपन बंदोपाध्याय 31 मई को रिटायर होने वाले थे, लेकिन राज्य ने हाल ही में उनके कार्यकाल को तीन महीने आगे बढ़ाने की आज्ञा मांगी थी जो कि मिल गई, क्योंकि उन्होंने कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। वही अपने पद से रिटायरमेंट के तुरंत बाद उन्हें मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का मुख्य सलाहकार नियुक्त कर दिया गया। जिसके बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने आपदा प्रबंधन अधिनियम के कड़े कानून के तहत बंदोपाध्याय को कारण बताओ नोटिस जारी किया था, जिसमें दो साल तक की कैद का प्रावधान है। जिसका जवाब आज अलपन ने दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here