कांग्रेस पार्टी ने अपने पदाधिकारियों के चाय-नाश्ते में आर्थिक तंगी के कारण की कटौती

RAHUL
कांग्रेस पार्टी ने अपने पदाधिकारियों के चाय-नाश्ते में आर्थिक तंगी के कारण की कटौती

(दिल्ली अनुराग चौहान) : नमस्कार मेरा नाम अनुराग चौहान है और आपका जन सैलाब में स्वागत है आज हम बात करेंगे कांग्रेस पार्टी के बारे में कांग्रेस पार्टी देश कि सबसे पुरानी पार्टी है और उसने ये रुतबा आज भी कायम कर रखा है लेकिन जब से 2014 के लोकसभा चुनाव में उसे हार का सामना करना पड़ा है जब से ही कांग्रेस पार्टी लगभग हर आने वाले चुनाव में उसे हार का ही मुंह देख ना पड़ता है

अब चुनाव में जीतो या हारो लेकिन चुनाव में अच्छा खासा पैसा तो खर्च करना ही पड़ता है इसी कारण आज कांग्रेस पार्टी आर्थिक तंगी का सामना कर रही कांग्रेस पार्टी ने अपने महासचिवों, राज्य प्रभारियों और अन्य पदाधिकारियों से खर्च पर लगाम लगाने को कहा है दरअसल कांग्रेस फंड की कमी से जूझ रही है और अब कांग्रेस ने इस आर्थिक तंगी से निपटने के लिए अपनी कोशिशें शुरू कर दी हैं.

सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस पार्टी के अकाउंट विभाग ने महासचिवों, राज्य प्रभारियों और अन्य पदाधिकारियों से कहा कि सभी अपने खर्च पर नियंत्रण करे. और तो और कांग्रेस पार्टी ने अपने पदाधिकारियों से कहा कि उनके चाय-नाश्ते पर खर्च की सीमा प्रति महीने तीन हजार रुपये रखी जाएगी और अगर खर्च इससे अधिक होता है तो पदाधिकारियों को अपनी जेब से पैसे देने होंगे

दरअसल इससे पहले कांग्रेस पार्टी के नेताओं और अन्य पदाधिकारियों को उनकी पार्टी यानि आल इंडिया कांग्रेस कमेटी की कैंटीन से चाय-नाश्ते दिए जाते हैं, लेकिन नेता और पदाधिकारी उस चाय-नाश्ते के बिल पर हस्ताक्षर करके लौटा देते थे और फिर इन सभी बिल का भुगतान अकाउंट विभाग की तरफ से किया जाता है. बताया ये भी जारा है कि कांग्रेस पार्टी ने नेताओं को छोटी दूरी की यात्रा ट्रेन से करने के लिए कहा है. और कांग्रेस पार्टी ने यात्रा के दौरान रात में ठहरने की जरूरत न होने पर होटल बुक करने से भी मना किया है.

अब कांग्रेस पार्टी आर्थिक तंगी से बचने के लिए और क्या – क्या करती वो देखना होगा लेकिन आप हमारे साथ जुड़े रहे और ऐसी तमाम खबर जन सैलाब पर पढ़ते रहे धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here