2022 यूपी विधानसभा चुनाव से पहले सीएम योगी को लेकर चिंता में BJP, पहली बार बीजेपी नेताओ ने की ‘फीडबैक अभियान’ की शुरुआत

अगले साल 2022 में यूपी समेत पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने वाले है। जिनमे यूपी, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर शामिल है। वही इन सभी राज्यों में से बीजेपी को सबसे ज्यादा चिंता यूपी की है।

2022 यूपी विधानसभा चुनाव से पहले सीएम योगी को लेकर चिंता में BJP, पहली बार बीजेपी नेताओ ने की 'फीडबैक अभियान' की शुरुआत
2022 यूपी विधानसभा चुनाव से पहले सीएम योगी को लेकर चिंता में BJP, पहली बार बीजेपी नेताओ ने की 'फीडबैक अभियान' की शुरुआत

(श्रद्धा उपाध्याय): अगले साल 2022 में यूपी समेत पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने वाले है। जिनमे यूपी, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर शामिल है। वही इन सभी राज्यों में से बीजेपी को सबसे ज्यादा चिंता यूपी की है। क्यूंकि यूपी चुनाव की जीत और चुनाव दोनों का अलग ही महत्व है। कोरोना के चलते जहां चारों और ऑक्सीजन, दवाओं और हॉस्पिटल बेड की मारामारी के बाद चिंताए और अधिक बढ़ गई है। साथ ही इन अब बीजेपी की बैठकों का क्रम भी लगातार तेजी पकड़ रहा है। वही पहली बार बीजेपी के दो नेताओ ने ‘फीडबैक अभियान’ की शुरुआत कर दी है। जिसके तहत उत्तर प्रदेश के मंत्रियों से मुलाकात कर कोरोना काल में किये कार्य का फीडबैक लिया जा रहा है।

बता दें दिल्ली से लखनऊ पहुंचे दो बीजेपी नेता, बीएल संतोष और केंद्रीय मंत्री राधा मोहन सिंह ने इस ‘फीडबैक ड्राइव’ को शुरू किया है। इसके साथ ही बीते कई दिनों से यूपी में कैबिनेट विस्तार और बीजेपी संगठन में बदलाव को लेकर चल रही चर्चा के बीच सोमवार को लखनऊ में पार्टी संगठन में महासचिव बीएल संतोष ने मंत्रियों और पार्टी के नेताओ संग एक बैठक की। और इसके बाद सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ भी उनके आवास पर भी एक बैठक आयोजित हुई। इसके साथ ही अभी महासचिव बीएल संतोष योगी आदित्यनाथ और दोनों उपमुख्यमंत्रियों के साथ मुलाकात करेंगे।

दूसरी ओर विपक्ष लगातार यूपी सरकार पर कोरोना काल की अव्यवस्थाओ को लेकर आरोप लगा रही है। वही पंचायत चुनाव में खुश खास परिणाम और बंगाल में मिली हार के बाद से यूपी सरकार सतर्क हो गई है। वही अब सीएम योगी आदित्यनाथ गाँव-गाँव जाकर और कोरोना अस्पतालों का खुद जाकर जायजा ले रहे है। वही बीते कुछ हफ्तों में योगी सरकार ने सोशल मीडिया के जरिये से विरोधियों के दावों पर जोरदार पलटवार किया जा रहा है। विपक्ष का कहना है कि कोरोनाकाल में यूपी सरकार की व्यवस्थाये नाकाम रही है। और कोरोना की दूसरी लहर में यूपी में सबसे अधिक मौत हुई है। वही अब यूपी सरकार कोरोना काल में हुए नुकसान वाले परिवारों की भरपाई भी कर रही है। अब पार्टी सीएम योगी की आलोचनाओं के चलते काफी चिंतित नजर आ रही है।

सूत्रों के अनुसार दिल्ली से लखनऊ पहुंची टीम को पंचायत चुनावों में हार के कारणों का भी आंकलन करने की जिम्मेदारी दी गई है। क्यूंकि इस बार पंचायत चुनावो में जिन इलाकों में बीजेपी को हार मिली है। उन इलाकों में बीजेपी को हारने की उम्मीद नहीं थी। मुख्यमंत्री के गृहक्षेत्र कहे जाने वाले गोरखपुर में भी नतीजे बीजेपी के पक्ष में नहीं थे। जिसके बाद अब आगामी विधानसभा चुनावो को लेकर बीजेपी काफी अलर्ट हो गई है। और अपनी तैयारियों पर बखूबी ध्यान दे रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here