अधीर रंजन ने अमित शाह पर साधा निशाना, कहा-कश्‍मीर में कुछ नहीं बदला, कह दीजिए रात गई तो बात गई

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने शनिवार को लोकसभा में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से अनुच्छेद 370 को खत्म करने से पहले लोगों से किए गए वादों पर सवाल उठाए।

अधीर रंजन ने अमित शाह पर साधा निशाना, कहा-कश्‍मीर में कुछ नहीं बदला, कह दीजिए रात गई तो बात गई
अधीर रंजन ने अमित शाह पर साधा निशाना, कहा-कश्‍मीर में कुछ नहीं बदला, कह दीजिए रात गई तो बात गई

Adhir Ranjan chowdhury: कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने शनिवार को लोकसभा में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से अनुच्छेद 370 को खत्म करने से पहले लोगों से किए गए वादों पर सवाल उठाए। और अधीर रंजन चौधरी ने लोकसभा में गृह मंत्री अमित शाह पर खूब तंज कसे। वही, लोकसभा में अधीर रंजन चौधरी ने मोदी सरकार पर हमले करते हुए कहा कि धारा 370 को निरस्त करने के बाद सरकार ने जो सपने दिखाए थे, वे अधूरे हैं।

दरसल, यह मौका था जम्‍मू कश्‍मीर पुनर्गठन (संशोधन) विधेयक, 2021 पर चर्चा का। तो अधीर रंजन चौधरी ने अमित शाह (Amit Shah) से मुखातिब होकर पूछा कि वे बताएं जम्‍मू और कश्‍मीर में हालात कैसे सुधारेंगे। अपने भाषण में शाह पर तंज कसते हुए अधीर रंजन चौधरी ने कहा, “कम से कम आपको इतना ही कह देना चाहिए कि ‘रात गई तो बात गई, इलेक्‍शन गया तो वादा गया।”

आगे अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि “जम्मू और कश्मीर को सामान्य स्थिति में लौटना बाकी है, जबकि घाटी से 90,000 करोड़ रुपये के स्थानीय कारोबार खत्म हो चुके हैं। हम चाहते हैं कि आप हमें बताएं कि आप जम्मू-कश्मीर में चीजों को कैसे सुधारेंगे।” इसके बाद अधीर रंजन चौधरी ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर निशाना साधते हुए कहा, “शाह जी आपने कहा था कि आप ब्राह्मणों को वापस ले जाएंगे। क्या आप पंडितों को वापस ले जाने में सफल रहे?”

अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि “अमित शाह जी, आपने कहा था कि आप ब्राह्मणों को वापस लाएंगे। क्‍या आप पंडितों को वापस लाने में कामयाब हुए? आप कहते हैं कि आप गिलगित बाल्टिस्‍तान को वापस लाएंगे, यह बाद की बात है लेकिन कम से कम उनको तो वापस ले आइए जो देश के भीतर विस्‍थापित हुए थे, आप पंडितों को 200-300 एकड़ जमीन देने में सफल नहीं हुए। अपने चुनावी घोषणा पत्र में आपने वादा किया था कि आप पंडितों को वापस ले जाएंगे। क्या आप सफल हुए?”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here