कृषि कानून को लेकर पंजाब के सांसद रवनीति सिंह और हरसिमरत कौर बादल के बीच संसद के बाहर हुई जमकर बहस, यहां देखे वायरल वीडियो !

पंजाब के दो सांसदो कांग्रेस के रवनीति सिंह बिट्टू और शिरो‍मणि अकाली दल की हरसिमरत कौर बादल के बीच बुधवार को संसद के बाहर जमकर बहस हुई।

कृषि कानून को लेकर पंजाब के सांसद रवनीति सिंह और हरसिमरत कौर बादल के बीच संसद के बाहर हुई जमकर बहस, यहां देखे वायरल वीडियो !
कृषि कानून को लेकर पंजाब के सांसद रवनीति सिंह और हरसिमरत कौर बादल के बीच संसद के बाहर हुई जमकर बहस, यहां देखे वायरल वीडियो !

(श्रद्धा उपाध्याय), नई दिल्ली: पंजाब के दो सांसदो कांग्रेस के रवनीति सिंह बिट्टू और शिरो‍मणि अकाली दल की हरसिमरत कौर बादल के बीच बुधवार को संसद के बाहर जमकर बहस हुई। दोनों के बीच ये बहस काफी देर तक देखने को मिली। जिसका वीडियो अब वायरल हो रहा है। बताया जा रहा है इन दोनों सांसदों के बीच बहस की वजह कृषि कानूनों को लेकर छिड़ी है।

दरअसल, नोकझोंक के दौरान हरसिमरत और रवनीत सिंह बिट्टू ने एक-दूसरे पर किसानों के मुद्दे पर गंभीर नहीं होने के आरोप लगाए है। दोनों ने संसद भवन के गेट नंबर 4 के बाहर कृषि कानूनों को लेकर खूब देर तक बयानबाजी की। गौरतलब है कि गेट नंबर 4 पर अकाली दल और बसपा के सांसद किसान बिल के विरोध में प्रदर्शन करते हैं। वही हरसिमरत और रवनीत सिंह बिट्टू की ये बहस उस समय देखने को मिली जब राहुल गांधी ने केंद्र सरकार के खिलाफ विपक्षी एकता को दर्शाने के लिए बुलाई गई ब्रेकफास्‍ट मीटिंग के एक दिन बाद हुई। और ये बहस उस वक़्त शुरू हुई जब हरसिमरत कौर हाथ में इन कानूनों के विरोध में लिखे हुए तख्त लेकर खड़ी हुई थी।

मालूम हो जिस समय देशभर में किसानो ने कृषि कानूनों को लेकर प्रदर्शन शुरू किया था। उसके बाद ही हरसिमरत कौर बादल ने केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्‍तीफा दे दिया था। वही अब इसी बहस के बीच रवनीत सिंह बिट्टू हरसिमरत कौर पर बयानबाजी करते हुए पत्रकारों के सामने कहा ” ‘जब केंद्रीय कैबिनेट ने बिल पास किया था तब वह मंत्री थीं. आपने बाद में इस्‍तीफा दिया. वे (अकाली दल) ड्रामा करने में शामिल हैं.’ इसके जवाब में हरसिमरत ने कहा -“‘कृपया उनसे पूछिए..जब यह सब हो रहा था तब राहुल गांधी कहां थे. इस पार्टी (कांग्रेस) ने वाकआउट कर बिल को पास होने में मदद की. उन्‍हें झूठ बोलना बंद करना होगा.’

आपको बता दें हरसिमरत कौर बादल शुरुआत से ही कृषि कानूनों के खिलाफ है। और अभी भी वो संसद में इन कानूनों के विरोध में दीवार बनकर खड़ी है। इसके साथ ही उन्होंने सरकार के खिलाफ ‘काले कानून रद्द करो’ के नारे भी लगाए थे। और इसके विरोध में लोकसभा में बसपा नेता रितेश पांडेय और कुछ अन्य सांसद भी कृषि कानूनों के विरोध में हरसिमरत के साथ खड़े थे। वही अब किसान अपना प्रदर्शन दिल्ली में जंतर मंतर तक ले आये है। दिल्ली सरकार की मंजूरी के बाद हर दिन 220 किसानो को शानितपूर्ण और पुलिस की कड़ी निगरानी में जंतर-मंतर पर प्रदर्शन की मंजूरी मिली थी। वही किसानो और सरकार के बीच इन कृषि कानूनों को लेकर हुई कई दौर की वार्ता के बाद भी अबतक कोई हल नहीं निकला है। दूसरी ओर कृषि कानूनों और किसान आंदोलन को लेकर संसद के मॉनसून सत्र में विपक्षी सांसद प्रदर्शन कर रहे हैं. पेगासस जासूसी और कृषि कानूनों को लेकर संसद की कार्यवाही लगातार बाधित हो रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here